सुविधाए

पार्क विश्राम स्थल

जिसे मा० फागू चौहान ने 13-12-2003 को अपने तत्कालीन विधायक निधि से 500,000/- पाँच लाख की धन राशी प्रदान कर अपना संकल्प पूरा कराया |

शव दाह के लिए पक्का घाट चबूतरा सहित

जिसे माननीय फागू चौहान ने 30-06-2004 को अपने तत्कालीन विधायक निधि से 500,000/- पाँच लाख रूपया देकर बनवाया

संत नागा बाबा मार्ग निर्माण :

जिसे माननीय पंचानन राय ने 29-07-2004 को अपने तत्कालीन विधायक निधि से 1,00,000/- एक लाख रूपया देकर बनवाया और इसके बिस्तार हेतु मा ० चन्द्र देव राम यादव (करैली) ने 19-03-2005 को अपने विधायक निधि से 1,00,000 एक लाख रुपया दिया

शव दाह हेतु पक्का घाट एंव भारत माता दीवाल

निर्माण हेतु दिनांक 21-12-2004 को तत्कालीन मा ० रामप्यारे सिंह ने अमर सिंह सांसद द्वारा 5,00,000/- पाँच लाख दिलवाकर कराया

मुक्तिधाम के पार्क के चारदीवारी एंव फूटपाथ का निर्माण

के लिए मा ० चन्द्र देव राज भर सांसद द्वारा दिनांक 18-03-2006 को 10,00,000/- दस लाख रुपये अपने सांसद निधि से देकर कराया |

पक्का स्नान घाट निर्माण

उक्त हेतु मा० मंत्री श्री फागू चौहान ने अपने तत्कालीन बिधायक निधि से दिनांक 10-06-2006 को 5,00,000/- पाँच लाख देकर कराया

प्रकाश ब्यवस्था

हेतु मा ० कमला यादव ऍम ० एल o सी o द्वारा दिनांक ३१.०३.२००६ को अपने विधायक निधि से रुपया ८६,००० छियासी हजार प्रदान किया गया जिससे एक खम्बे पर बड़ी लाईट लगा कर नवनिर्मित पक्का घाट पर प्रकाश ब्यवस्था किया गया है |

वर्षात से बचाव हेतु शवदाह स्थल पर विशाल शेड

का निर्माण वर्षात के समय दाह संस्कार के समय विघ्न-बाधा को देखते हुए मा ० फागू चौहान राजस्व मंत्री ने दिनांक 22-09-2008 को 5,00,000/- पाँच लाख की धन राशी अपने विधायक निधि से प्रदान करवाया जो आज काफी उपयोगी सिद्ध हो रहा है जिसका लोकार्पण दिनांक 24-12-2010 को मा ० फागू चौहान ने किया

पक्के स्नानघाट के विस्तार हेतु

मा ० फागू चौहान राजस्व मंत्री द्वारा दिनांक 16-12-2010 को रु ० 5,00,000/- पाँच लाख अपने विधायक निधि से प्रदान कराया गया जो यात्रियों के लिए सुरछित स्थान बन गया है इसके पूर्व शव दाह के बाद स्नान के लिए रामघाट पर जाना पड़ता था किन्तु अब लोग यही स्नान करते हैं |

मुक्तिधाम के विकास हेतु

मा ० पूर्व मंत्री हरिशंकर तिवारी ने अपने निजी कोष से 50,000/- पच्चास हजार मा o सांस्कृतिक मंत्री श्री सुभाष पांडेय ने अपने निजी कोष से 1,00,000/- एक लाख रु दिया

पूर्व में निर्मित अधूरे शेड

को मा ० दया राम पाल ने पुनः प्रयास कर पूरा कराया जिसकी अनुमानित लगत १,३३,००० हैं | जिसे निर्माण निगम द्वारा बनवाया गया हैं

पानी की टंकी और जल- कल की ब्यवस्था

मुक्तिधाम पर दिनों दिन विकास के कारण सुबिधा के खोज में इधर उधर जाने वालो का पलायन अब पूर्ण रूप से थम गया हैं | दिन प्रतिदिन लोगो की बढती भीड़ को देखते हुए संस्था के अध्यक्ष डॉ बी ० के ० श्रीवास्तव ने अपने पिता स्व ० जमुना लाल श्रीवास्तव के दाह संस्कार के समय एक संकल्प लिया था की इस वीरान स्मशान के लिए कुछ न कुछ करूँगा एक समय जब मुक्ति धाम पर कुछ नहीं था सब नदी की काटन में कट कर बह गया था शव दाह के लिए गौरी शंकर घाट पर आने से लोग कतराने लगे थे उसी समय में मुक्ति धाम के अध्यक्ष डॉ ० बी ० के ० श्रीवास्तव जी के पिता श्री स्व ० जमुना लाल श्रीवास्तव का निधन हो गया वह दाह संस्कार के लिए असमंजस की स्थिति में थे चूँकि वह बलिया के मूल निवासी हैं इसलिए रिश्तेदारों ने बलिया या वाराणसी ले जाने पर जोर दिया तो स्थानीय लोगो ने गौरी शंकर घाट के महत्व को समझाते हुए यही पर दाह संस्कार के लिए बल दिया और अंत में डॉ ० बी ० के ० श्रीवास्तव ने गौरी शंकर घाट पर ही दाह संस्कार का निर्णय लिया मुखाग्नि देते समय उपस्थित लोगो ने गौरी शंकर घाट पर कुछ छाया के लिए निवेदन किया चर्चा के दौरान उसी स्मशान भूमि पर उपस्थित डॉ ० अयूब आजमी ने भी कहा की वी ० के ० यंहा कुछ करते क्यों नहीं तो डॉ वी ० के० जी ने कहा की अरे पार्टनर यंहा हम क्या कर सकते है इस पर डॉ अयूब अजमी ने कहा की अरे यंहा तुम नहीं करोगे तो और कौन करेगा और डॉ वी ० के० श्रीवास्तव के यह कह कर बात समाप्त किया की देखेंगे | और फिर जब मुक्तिधाम की प्रक्रिया प्रारंभ हुई तो सभी अवश्यक कार्यो में एक काम पानी टंकी व जलापूर्ति से सम्बंधित रहा जिसकी जिम्मेदारी डॉ ० वी ० के० श्रीवास्तव ने स्वयं अपने जिम्मे लिया और अनुमानित लगत रु 1,25,000/- रु देकर पानी की सारी ब्यवस्था करवाया

उपरोक्त तमाम विकास के कार्यो के पूर्ण होने के बाद भी तमाम येसे कार्य हैं | जिसका जनहित में कराना जाना नितांत्र आवश्यक है जैसे

1:शव दाह स्थल की सुरछा हेतु एक मोटी व लम्बी दिवार का निर्माण जिससे मुक्तिधाम सहित दुर्गा मंदिर तक की सुरछा सुनिश्चित हो सके अनुमानित लागत रु 10,000,000/-

2:भारत माता मंदिर के समपूर्ण निर्माण कार्य को पूरा करने हेतु अनुमानित लागत 5,00,000/- रु ० जिससे इसकी भाभ्यता को निखारा जा सके | इस कार्य हेतु श्री वीरेंद्र कुमार पुत्र स्व शिवनाथ प्रसाद सालकिया बनारस रोड हबड़ा

3:श्री गंगा माता अवतरण के अधूरे निर्माण कार्य को पूरा कराने हेतु अनुमानित लागत रु 2,50,000/- दो लाख पच्चास हजार रु जिससे पूरा कर दर्शनीय बनाया जा सके

मुक्तिधाम पर सुलभ शौचालय का निर्माण नितांत आवश्यक है जो कुल महिला + पुरुष सहित बीस सिट वाला हो जिससे प्रतिदिन दो हजार से पाँच हजार की संख्या में आने वाले लोग लाभाविन्तय होंगे अनुमानित लागत १०,००,००० रु ०

4:पक्के स्नान घाट का विस्तार कार्य निर्माण हेतु अनुमानित लागत रु ० 10,00,000/-
5:रामेश्वरम से लाया गया तैरते हुए पत्थर के लिए एक पानी की हौज बन कर उसमे रखना अनुमानित लगत रु 50,000/-


मुख्य पृष्ठ  ::  इतिहास  ::   फोटो गैलेरी   ::   सुविधाए   ::  संपर्क करे

© Copyright 2010. All rights reserved Mukti Dham.
Site Designed Managed by Techrelevant.in